गणतंत्र दिवस पर भाषण

आदरणीय अतिथि, प्रिय शिक्षक और साथी विद्यार्थियों।

आज हम सभी मिलकर गणतंत्र दिवस के इस शानदार अवसर पर इकठ्ठा हुए हैं, जो हमारे देश के संविधान की महत्ता और महानता को याद करने का दिन है। आज से इसी दिन को हमारे देश में गणतंत्र दिवस के रूप में मनाने का शुभारंभ हुआ था।

भारतीय संविधान के निर्माता, बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर जी ने हमें एक महान संविधान दिया जिसने हर नागरिक को समान अधिकार और स्वतंत्रता की गारंटी दी। इस संविधान ने हमें लोकतंत्र की मौलिक नींव दी और हमारे देश को एक गणराज्य के रूप में उच्चतम आदर्शों और सिद्धांतों की ओर बढ़ावा दिया।

गणतंत्र दिवस हमारे लिए एक महत्त्वपूर्ण अवसर है, जो हमें दिखाता है कि हमारे देश में लोकतंत्र की महत्ता क्या है। यह दिवस हमें याद दिलाता है कि हमारे प्राचीन ग्रंथों, संस्कृति और संस्कृति के मूल्यों को महत्त्वपूर्ण बनाना है।

गणतंत्र दिवस हर भारतीय के लिए गर्व का विषय है, जो हमें यहाँ तक ले आया है। हमें सभी को एक मजबूत नागरिक बनकर देश के विकास और समृद्धि में योगदान देना है।

इस गणतंत्र दिवस पर हम सभी को यह संकल्प लेना चाहिए कि हम देश को मजबूत, एकता और समृद्ध बनाने के लिए समर्पित रहेंगे। हमें अपने कर्तव्यों को समझना है और एक सशक्त, संघर्षशील और सशक्त भारत के लिए काम करना है।

आओ, हम सभी मिलकर देश को एक नये और उज्जवल भविष्य की ओर बढ़ाएं। हम सभी को यहाँ से जाकर अपना संकल्प पुनः ताजगी से नवाचीन रूप से जोड़ने का संकल्प लेना चाहिए।

गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं! जय हिंद! जय भारत! धन्यवाद।

Scroll to Top